December 7, 2022
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group (3.1K+) Join Now
नरमा कपास ग्वार मुंग मोठ के किसान इस ग्रुप से जुड़े Join Now
hui

एक बार फिर बदलेगा मौसम ,मौसम पूर्वानुमान

मौसम_अपडेट: उत्तर भारत में मॉनसून में अगले एक हफ्ते तक बरकरार रहेगी सुस्ती, 12 सितंबर के बाद फिर से सक्रिय होना शुरू होगा मॉनसून

उत्तर भारत मे जुलाई में बंपर बारिश के बाद से अभी तक तगड़ी बारिश गायब हैं। अगस्त माह में अधिकतर जगहों पर बारिश का आकंड़ा माइनस में रिकॉर्ड हुआ है।

सितंबर की शुरुआत भी उत्तर भारत मे साफ, सूखे औऱ बिना बारिश के हो चुकी है। औऱ आने वाले दिनों में भी मॉनसून में यही सुस्ती बरकरार रहेगी।

राहत के बात ये कि मॉनसून के जाने की जो आशकाएं जो लगाई जा रही थी। अब वे टल गई है, परिस्थितियों में हुए सुधार के कारण मॉनसून अब जल्दी जाता नही दिख रहा। बल्कि सामान्य तिथियों से लेट जरूर हो सकता है।


★ मौसमी प्रणाली:

● एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पाकिस्तानी पंजाब व साथ लगते अपने पंजाब पर विकसित हुआ है। जिसके कारण अगले 2-3 दिन कश्मीर, हिमाचल व पंजाब के उत्तरी-पुर्वी इलाको में बरसात की गतिविधियां दर्ज की जाएगी।

● मॉनसून की अक्षीय रेखा भटिंडा, रोहतक, शाहजहांपुर होते हुए नेपाल-बिहार बॉर्डर पर से होती हुई उत्तर-पुर्वी भारतीय राज्यो तक बनी हुई है।

● बंगाल की खाड़ी में 8 सितंबर को एक LPA बनना शुरू करेगा। जो पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ता हुआ आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश की तरफ बढेगा।
इस सिस्टम के आने के बाद मॉनसून में वापिस से जान आनी शुरू होगी। क्योंकि आगामी यह सिस्टम के कारण पुर्वी हवाओँ का प्रभाव बढ़ेगा। बिना पुर्वी हवाओँ के मॉनसून की अक्षीय रेखा भी कोई बरसाती गतिविधियों के जन्म नही दे सकती।

आगे एक हफ्ते का मौसम पूर्वानुमान:


पहाड़ी राज्य:

जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश में आज व कल कई जगह हल्की से मध्यम बरसात होगी। कुछ जगह भारी बारिश भी हो सकती है।
वही उत्तराखंड में कल व परसो बिखरी हुई हल्की से मध्यम बरसात की गतिविधियों के होने की संभावना है।

6 व 7 सितंबर को जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख व उत्तराखंड में कही-2 हल्की बारिश की गतिविधियां दर्ज की जाएगी। छिटपुट जगहों पर ही तेज़ बरसात हो सकती है।

8 से 11 सितंबर के बीच पहाड़ी राज्यो में मॉसम लगभग साफ ही रहेगा। हालांकि दोपहर बाद कही2 हल्की फुल्की बरसात हो सकती है। मगर भारी बारिश की उम्मीद इन दिनों में नही है।

12 के बाद बरसात की गतिविधियों में धीरे-2 बढ़ोतरी होने की संभावना है।


पंजाब:

राज्य के पठानकोट, गुरुदासपुर, होशियारपुर, अमृतसर, तरनतारन, फिरोजपुर, कपूरथला, जालंधर, लुधियाना, नवांशहर, रूपनगर में आज, कल व परसों के दौरान हल्की से मध्यम बरसात की गतिविधियां दर्ज की जाएगी।

5 व 6 सितंबर को राज्य के शेष जिलो में बारिश की खास उम्मीद नहीं है। हालांकि कही- 2 बादल बन सकता है, जिसके कारण हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है।

7 से 12 सितंबर तक मौसम साफ, शुष्क औऱ गर्म ही रहेगा। इस दौरान बरसात की उम्मीद नही है। सिर्फ heat cells बनने से छिटपुट जगह बूंदाबांदी या हल्की बारिश हो सकती है।

12 के बाद बरसात की गतिविधियों के शुरू होने की उम्मीद है।


हरियाणा & दिल्ली:

कल व परसो हरियाणा में अधिकतर जगह मॉसम लगभग साफ ही बना रहेगा, हालांकि दोपहर बाद आंषिक बादलवाही के बीच छिटपुट जगहों पर हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने की भी उम्मीद है।

7 से 11 सितंबर तक सम्पूर्ण हरियाणा में मॉसम साफ औऱ गर्म बना रहेगा। बारिश की कोई उम्मीद इस दौरान नही है। सिर्फ heat cells बनने से हल्की फुल्की बरसात की गतिविधियां एक्का-दुक्का जगह हो सकती है।

11 सितंबर के बाद बरसात की गतिविधियों के शुरू होने की उम्मीद है।


राजस्थान:

पश्चिमी राजस्थान:
राज्य के सभी पश्चिमी जिलो में 11 सितंबर तक मॉसम आंषिक बादलवाही के साथ लगभग साफ, शुष्क औऱ गर्म ही बना रहेगा। पश्चिमी जिलो में बारिश की संभावना इस दौरान नही है।

उत्तर राजस्थान में कल व परसो एक्का-दुक्का जगह बूंदाबांदी या हल्की बारिश हो सकती है। इसके अलावा कही बारिश की उम्मीद नहीं है।
फिर आगे 11, 12 को हल्की बारिश पश्चिमी राजस्थान में कही-2 ही बूंदाबांदी या हल्की बारिश होने की संभावना है।

पश्चिमी राजस्थान में 14 सितंबर के बाद बरसात की गतिविधियां देखी जा सकती है। उससे पहले मॉनसून इन इलाकों में निष्क्रिय ही रहेगा।

पुर्वी राजस्थान:
आज से 10 सितंबर तक पुर्वी राजस्थान के जिलो में मॉसम लगबग साफ, शुष्क औऱ गर्म बना रहेगा। दोपहर बाद heat cells बनने से हल्की फुल्की बरसात की गतिविधियां एक्का-दुक्का जगह हो सकती है।

11 से 13 सितंबर के बीच पुर्वी राजस्थान में बिखरी हल्की बारिश की गतिविधियां देखी जाएगी। मगर भारी बारिश की उम्मीद तब भी नही है।

13 के बाद पुर्वी राजस्थान में मॉनसून फिर से पूरी तरह से सक्रीय होना शुरू होगा।


उत्तरप्रदेश:

पश्चिमी उत्तर प्रदेश:
पश्चिमी यूपी के जिलो में मॉसम आगे भी साफ औऱ सुखा ही बना रहेगा। आज से 10 सितंबर तक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलो में मॉसम आंशिक बादलो के साथ लगबग साफ, गर्म ही रहेगा।
इस दौरान मॉनसून रेखा की मौजूदगी के कारण तराई क्षेत्र में कही-2 हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है।

11 से 13 सितंबर के बीच हल्की बारिश की गतिविधियां देखी जाएगी। 14 सितंबर के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मॉनसून फिर से सक्रिय हो सकता है।

पुर्वी उत्तरप्रदेश:
राज्य के पुर्वी इलाको में आज से 10 सितंबर तक मॉसम आंषिक बादलवाही वाला के साथ लगभग साफ बना रहेगा। दोपहर बाद कही-2 हल्की बारिश की गतिविधियां भी होती रहेगी। मगर भारी बारिश की उम्मीद इस दौरान नही है।

11 से 13 सितंबर के बीच बरसात की गतिविधियों में बढ़ोतरी होगी। पूर्वांचल व बुंदेलखंड के जिलो में इस दौरान हल्की से मध्यम बरसात होगी।

14 सितंबर से पूर्वांचल व बुंदेलखंड में मॉनसून सक्रिय हो जाएगा, जिसके कारण इन इलाकों में 14 सितंबर से भारी बारिश की संभावना है।


आगे की जानकारी समयानुसार दे दी जाएगी।

होम पेज पर जाकर अन्य जानकारी देखे👈क्लिक करें

सरसो का भाव क्लिक करें
नरमा,कपास का भाव क्लिक करें
ग्वार,मुंग,मोठ,जीरा,इसबगोल,चना,गेहूं का भाव क्लिक करें

vijaypal chahar

विजयपाल चाहर

View all posts by vijaypal chahar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आगे वाली पोस्ट देखे
कमजोर व खराब हुई फसलों को नष्ट कियातो किसानों को नहीं मिलेगा बीमा क्लेम कमजोर व…